अल्जीरियाई फुटबॉलर रियाज़ महराज ने जीत के बाद मैदान पर फहराया फ़लस्तीन का ध्वज

नई दिल्लीः फिलीस्तीनियों ने मैनचेस्टर सिटी के अल्जीरियाई विंगर रियाज़ महराज को एतिहाद स्टेडियम में अपनी टीम की खिताबी जीत के जश्न के दौरान फिलिस्तीन का झंडा फहराने के लिए धन्यवाद दिया। रियाज़ महराज ने जीत के बाद फिलिस्तीन का झंडा फहराया था, इसके कुछ ही मिनटों बाद, महरेज़ सोशल मीडिया पर फिलिस्तीनियों में मशहूर हो गए। उन्होंने रविवार को एक निर्णायक मैच में जीत दर्ज करने के बाद फ़लस्तीन का झंडा फहराया था।

प्रमुख शेख महमूद अल-हसनत ने ट्विटर पर रियाज़ महराज की फिलिस्तीन ध्वज लिए एक तस्वीर पोस्ट की और लिखा, जिसमें उन्होंने महराज को धन्यवाद देते हुए कहा कि “धन्यवाद रियाज़ महराज।” महराज ने अपने कंधों के चारों ओर अल्जीरियाई झंडे के साथ अपनी तस्वीर पोस्ट की और फिलिस्तीन के झंडे को अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स पर लगाया। लीसेस्टर सिटी के इंग्लैंड अंडर -21 अंतरराष्ट्रीय हमजा चौधरी और फ्रेंच अंडर -21 डिफेंडर वेस्ले फोफाना ने 15 मई को फिलिस्तीनी ध्वज धारण किया था। मैनचेस्टर यूनाइटेड के पॉल पोग्बा और आइवरी कोस्ट ने भी अमद डायलो ने भी पिछले दिनों जीत के बाद खेल के मैदान पर फ़लस्तीन का झंडा फहराया था।

 

क्या हुआ था मैच में

रविवार को एतिहाद स्टेडियम में खेले गए मैच में मैनचेस्टर सिटी ने एवर्टन को 5-0 से हराकर अपने विजयरथ को जारी रखा। यह मैनचेस्टर सिटी के अनुभवी सर्जियो एगुएरो सहित कई शहर के खिलाड़ियों के लिए एक भावनात्मक क्षण था, जिन्होंने क्लब के लिए अपने अंतिम लीग गेम में दो बार स्कोर किया था। जबकि शहर के खिलाड़ियों ने समारोह में भाग लिया, रियाज़ महराज ने इस जीत के इस जश्न को अलग ही अंदाज़ में मनाया। उन्होंने इस दौरान फिलिस्तीनी ध्वज लहराया।

बता दें कि इस महीने की शुरुआत में, महरेज़ ने फ़लस्तीन के लोगों का भी समर्थन किया था। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर #SaveSheikhJarrah पोस्ट किया,ऐसा उन्होंने तब किया जब इज़राइली पुलिस ने यरूशलेम में अल अक्सा मस्जिद परिसर पर हमला किया और सैकड़ों उपासकों को घायल कर दिया। महराज फ़ुटबॉल की दुनिया में फ़लस्तीनी लोगों के लिए समर्थन दिखाने वाले अकेले खिलाड़ी नहीं हैं। उनसे पहले मैनचेस्टर यूनाइटेड के खिलाड़ी पॉल पोग्बा और अमद डायलो ने ओल्ड ट्रैफर्ड में फुलहम के साथ ड्रॉ के बाद संयुक्त रूप से मैदान पर ही फिलिस्तीन का झंडा लहराया था, जबकि लीसेस्टर सिटी के हमजा चौधरी और वेस्ले फोफाना ने चेल्सी पर अपनी एफए कप फाइनल जीत के बाद भी ऐसा ही किया था।

लिवरपूल मिस्र के स्ट्राइकर मोहम्मद सालेह ने ब्रिटिश प्रधान मंत्री बोरिस जॉनसन सहित दुनिया के नेताओं से ट्विटर पोस्ट में फ़लस्तीनियों पर इजरायली की ओर से की जाने वाली बमबारी पर तुरंत हस्तक्षेप करने का आह्वान किया था। सालेह की टीम के साथी सदियो माने ने भी सोशल मीडिया पर इस फ़लस्तीन की स्थिति को “दिल दहला देने वाला” बताया था।

जानकारी के लिये बता दें कि छः मई को फ़लस्तीन और इजरायल के बीच हिंसा शुरु हुई थी, इस हिंसा में दस इजरायली और 232 फ़लस्तीनियों की जान गई थी। फ़लस्तीन में जान गंवाने वालों में 65 बच्चे शामिल थे, इसके अलावा बड़ी संख्या में महिलाओं एंव वृद्ध लोगों की जान गई थी। इस हिंसा के खिलाफ पूरी दुनिया में इजरायल के ख़िलाफ प्रदर्शन हुए जिसके बाद इजरायल ने बिना किसी शर्त के संघर्ष विराम का एलान कर दिया था।