88% बढ़ा भारत का व्यापार घाटा, इकोनॉमी के लिए है रेड अलर्ट

भारत का व्यापार घाटा (Trade Deficit) वित्त वर्ष 2022 में 87.5 फीसदी बढ़कर 192.41 अरब डॉलर रहा. इससे पिछले वित्त वर्ष में देश को 102.63 अरब डॉलर व्यापार घाटा हुआ था. सोमवार को कॉमर्स एंड इंडस्ट्री मिनिस्ट्री की तरफ से जारी आंकड़ों में यह जानकारी दी गई.

बता दें कि जब निर्यात (Import) कम होता है और आयात (Export) अधिक होता है, तो उसे व्यापार घाटा (Trade Deficit) कहते हैं. वही जब कोई देश आयात कम और निर्यात अधिक करता है तो उसे ट्रेड सरप्लस (Trade Surplus) कहते हैं.

सरकार की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक, वित्त वर्ष 2022 में भारत ने रिकॉर्ड 417.81 अरब डॉलर का निर्यात किया. हालांकि इसके साथ भारत ने 610.41 अरब डॉलर की वस्तुओं का आयात भी किया. इस तरह निर्यात की तुलना में आयात अधिक रहने से देश का व्यापार घाटा वित्त वर्ष 2022 में 192.41 अरब डॉलर रहा.

इस साल मार्च महीने में व्यापार घाटा 18.69 अरब डॉलर रहा. पूरे वित्त वर्ष 2021-22 में यह 192.41 अरब डॉलर था. पहली बार, देश का एक महीने में निर्यात का आंकड़ा 40 अरब डॉलर के ऊपर यानी 40.38 अरब डॉलर रहा है. यह एक महीने पहले फरवरी के 35.26 अरब डॉलर के मुकाबले 14.53 प्रतिशत अधिक है. यह मार्च, 2020 के 21.49 अरब डॉलर के मुकाबले 87.89 प्रतिशत अधिक है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.