नींबू ने इसलिए तोड़े महंगाई के सारे रिकॉर्ड, जानें वजह

भीषण गर्मी (Summer) के बीच नींबू (Lemon) पानी एक ऐसा अचूक उपाय है जिसे पीकर गर्मी से राहत मिलती है. लेकिन इन दिनों नींबू पानी पीना सहज नहीं रहा है. नींबू के भाव 30 गुना अधिक बढ़ गए हैं और यह आम आदमी की पहुंच से धीरे-धीरे दूर हो गया है.

सामान्‍य मार्केट में 10 रुपये का एक नींबू मिल रहा है वहीं 300 से 400 रुपये किलोग्राम तक बेचा जा रहा है. दिल्‍ली (Delhi) से लेकर चंडीगढ़ और हिमाचल प्रदेश, उत्‍तर प्रदेश (UP) सहित लगभग सभी राज्‍यों में यही स्थिति है.

नींबू का दाम बढ़ने की एक ही वजह सामने आ रही है और वह यह है कि हर साल देशभर में मार्च और अप्रैल के महीने में सिर्फ आंध्रप्रदेश (Andhra Pradesh) राज्‍य से नींबू आता है. यहीं से पूरे देश में नींबू की सप्‍लाई होती है लेकिन पिछले साल 2021 के अक्‍टूबर-नवंबर में इस राज्‍य में आई भारी बाढ़ में नींबू की खेती (Lemon Farming) बर्बाद हो गई.

इन्‍हीं महीनों में आंध्र प्रदेश में नींबू के पेड़ों पर फूल आना शुरू होता है और मार्च-अप्रैल में नींबू बनकर आता है लेकिन बताया जा रहा है कि बाढ़ के चलते नींबू की फसल को बड़ा नुकसान हुआ और सिर्फ 10 से 20 फीसदी ही फसल बच पाई है. इसी वजह से आंध्र प्रदेश से इस साल कम माल आ रहा है और नींबू के दाम चढ़े हुए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.