Ukraine Refugee: मजबूर यूक्रेनी महिलाओं का ‘फायदा’ उठा रहे ब्रिटेन के पुरुष

रूस-यूक्रेन युद्ध ने लाखों लोगों को बेघर कर दिया है. यूक्रेन से पलायन कर चुके लोग दूसरे देशों में शरण लेने के लिए मजबूर हैं. कुछ जगहों पर शरणार्थियों की मदद करने वाले लोग मिल रहे हैं तो कई लोग मुसीबतों का भी सामना कर रहे हैं. ऐसा ही हुआ यूक्रेन की एक महिला के साथ जो भागकर ब्रिटेन पहुंची और एक घर की तलाश कर रही थी. महिला को मदद के बजाय कुछ लोग उल्टे-सीधे मैसेज भेजने लगे. 30 साल की जूलिया स्कुबेंको ने रहने की एक सुरक्षित जगह के लिए ब्रिटेन के लोगों से गुहार लगाई थी लेकिन बदले में उन्हें कुछ ‘भद्दे’ जवाब मिले.

रूसी हमले से बचने के लिए जूलिया को अपनी मातृभूमि छोड़नी पड़ी है. एक नई शुरुआत करने के लिए उन्होंने फेसबुक का सहारा लिया. युद्ध से पहले वह कीव में एक सफल क्लीनिंग कंपनी चलाती थीं. उन्होंने 18,000 लोगों के एक ग्रुप में अपील करते हुए एक मार्मिक पोस्ट लिखी. अपनी एक तस्वीर के साथ उन्होंने लिखा, ‘मैंने कभी नहीं सोचा था कि मुझे ब्रिटेन भागने के लिए मजबूर होना पड़ेगा.’ जूलिया ने कहा कि उन्हें अब नई शुरुआत करनी होगी और जितना जल्दी हो सके वह फिर से अपने पैरों पर खड़ी हो जाएंगी.

घर तलाश रही महिला को किया शादी के लिए प्रपोज

जूलिया ने अपनी पोस्ट में अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स के लिंक और मोबाइल नंबर अटैच कर दिया. इसके बाद जूलिया को कुछ पुरुषों की तरफ से भद्दे मैसेज आने शुरू हो गए जिसमें लोग उन्हें ‘शादी’ के लिए प्रपोज कर रहे थे. डेलीमेल से बात करते हुए जूलिया ने कहा कि उन्होंने एक शख्स को बताया कि वह ऐसे घर की तलाश में हैं जहां अन्य महिलाएं भी रहती हों. इस पर उसने जवाब दिया, ‘बुरा हुआ! हम भी एक परिवार बना सकते थे.’

मजबूर यूक्रेनी महिलाएं बन सकती हैं ‘शिकार’

एक अन्य शख्स ने उन्हें ‘असिस्टेंस’ का जॉब ऑफर की. इस तरह के मैसेज पाकर जूलिया को डर सता रहा है कि मजबूर यूक्रेनी महिलाओं का लोग फायदा उठा सकते हैं क्योंकि उनके पास कोई और रास्ता नहीं है. उन्होंने कहा, ‘मुझे अपने देश की लड़कियों की चिंता सता रही है.’ अच्छी खबर यह है कि अजीबोगरीब मैसेजों के बाद अब जूलिया को आखिरकार एक ‘दयालु’ मकान मालिक मिल गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.