इंग्लैंड की संसद में गूंजा बुलडोज़र का मुद्दा, ब्रिटिश सांसद बोलीं ‘मुसलमानों के घरों और दुकानों पर….’

नई दिल्लीः बुलडोजर की राजनीति भले ही सत्ताधारी पार्टी के वोट बैंक को खुश कर रही हो, लेकिन विश्व स्तर पर इसने भारत की छवि खराब करने का ही काम किया है। हाल ही में ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन के भारत दौरे के दौरान गुजरात में जेसीबी प्लांट में मशीन के साथ फोटो सोशल मीडिया पर भी जमकर वायरल हुई थी।

यूपी में अपराधियों की ‘अवैध’ संपत्ति के खिलाफ बुलडोजर के इस्तेमाल की चर्चा अब ब्रिटेन में भी होने लगी है। नॉटिंघम ईस्द से सांसद ने संसद में बुलडोजर का मुद्दा उठाते हुए कहा कि बीजेपी (मोदी की गवर्निंग पार्टी) मुसलमानों के घरों और दुकानों को गिराने के लिए जेसीबी मशीन का इस्तेमाल कर रही है। ब्रिटेन के सांसद के इस बयान पर केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने पलटवार किया है।

केंद्रीय मंत्री किरेन रिजूजी ने अपने ट्वीट में कहा ‘मैं उस युवा ब्रिटिश सांसद को दोष नहीं देता जो सच्चाई से अनजान है और भारत की नकारात्मक छवि पेश करता है। यह टुकड़े-टुकडे गैंग की ओर से शुरू किए गए नकारात्म अभियानों का परिणाम है, जिसका एक मात्रा उद्देश्य देश की बड़ी उपलब्धियों को बदनाम करना है। नरेंद्र मोदी सरकार भारत में कानून के शासन में विश्वास करती है।’

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने अपनी हाल की भारत यात्रा के दौरान गुजरात के जेसीबी मशीन प्लांट का दौरा किया था। इस दौरान वो जीसेपी पर चढ़कर मशीन के साथ फोटो भी खींचवाई थी। जिसके बाद से ब्रिटेन में भी बुलडोजर की चर्चा शुरू हो गई है। ब्रिटेन की सांसद ने कहा बोरिस जॉनसन ने अपनी हाल की भारत यात्रा के दौरान जेसीबी के साथ पोज दिया, लेकिन उनके मंत्री ने यह नहीं बताया कि क्या पीएम मोदी के सामने घरों को गिराए जाने के मुद्दे को उठाया था?

बता दें कि यूपी में अपराधियों की कमर तोड़ने के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ की सरकार ने बुलडोजर का सहारा लिया है। अपराधियों के अवैध कब्जे को बुलडोजर के जरिए गिरा दिया जा रहा है। मध्य प्रदेश में भी शिवराज सिंह सरकार कानून को हाथ में लेने वालों के खिलाफ बुलडोजर का इस्तेमाल कर रही है। हाल-फिलहाल में दिल्ली के जहांगीरपुरी में हुई हिंसा के बाद भी इलाके में अवैध कब्जों को हटाने के लिए बुलडोजर का इस्तेमाल किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.