अमेरिका के इस एक फैसले ने बढ़ाई रूस की परेशानी

Russia-Ukraine War: पिछले 17 दिनों से रूस और यूक्रेन के बीच जंग जारी है. रूस की सेना लगातार यूक्रेन पर हमले कर रही है जिसका यूक्रेन की सेना और वहां के लोग डटकर मुकाबला कर रहे हैं. दोनों तरह से जोरदार हमले हो रहे हैं. इस जंग में अब तक हजारों लोगों की जान जा चुकी है जबकि 20 लाख से ज्यादा लोगों को अपना घर छोड़कर दूसरे मुल्कों में पलायन करना पड़ा है. 17 दिनों की लड़ाई के बाद भी अभी तक किसी तरह की शांति के आसार नजर नहीं आ रहे हैं.

रूस-यूक्रेन में अब एक नया मोड आ गया है. अमेरिका समेत पश्चिमी देश भी इस जंग में कूद गए हैं. अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने रूस को लेकर कड़ी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा है कि पुतिन यूक्रेन से जंग जीत नहीं पाएंगे. साथ ही उन्होंने रूस की घेराबंदी के लिए 12 हजार फौजियों को भेजा है. जिसकी वजह से अब ये जंग काफी खतरनाक मोड़ पर आ गई है. बाइडेन ने रूस के बॉर्डर से सटे लातविया, एस्टोनिया, लिथुआनिया और रोमानिया में सेना भेज दी है. बाइडेन ने कहा कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन उस युद्ध को नहीं जीत पाएंगे जो उन्होंने यूक्रेन के खिलाफ छेड़ा है.

साथ ही अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि हम NATO के हर क्षेत्र के हर इंच की रक्षा करेंगे. साथ ही उन्होंने यूक्रेन में तीसरा विश्व युद्ध नहीं लड़ने पर भी जोर दिया. जो बाइडेन ने धमकी भरे अंदाज में कहा कि हम पुतिन पर अपना आर्थिक दबाव बढ़ाने और रूस को वैश्विक मंच पर अलग-थलग करने में सक्षम हैं. साथ ही ये भी कहा कि अमेरिकी सेना अमेरिकी टैंक और विमानों के साथ रवाना हो रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.