जो सरकार गरीबों, मजदूरों, महिलाओं की नहीं हो सकती उसे सत्ता में बने रहने का कोई हक़ नहीं : ललन कुमार

लखनऊ/बक्शी का तालाबः  बीते दिनों लखनऊ की बक्शी का तालाब विधानसभा के ग्राम बाजपुर गेगौरा में गौमांस से लदी एक कार ने 2 युवकों को टक्कर मार दी जिससे उनकी मौत हो गयी। दोनों युवक सेना में भर्ती की तैयारी कर रहे थे। अतः सुबह दौड़ने की प्रैक्टिस करते समय कार से हुई टक्कर से उनकी मृत्यु हुई।

उत्तर प्रदेश काँग्रेस कमेटी के मीडिया संयोजक ललन कुमार ने आज मृतक आशीष यादव के पिता विजयबहादुर यादव एवं प्रवेश यादव के पिता राम आसरे यादव से मुलाक़ात की। उनके घर पहुँचकर परिजनों को संबल दिया एवं पूरे मामले को लेकर बात की।

इस पूरे प्रकरण को लेकर ललन बोले कि – आशीष एवं प्रवेश दोनों का लक्ष्य पवित्र एवं भविष्य उज्जवल था। वह सेना में भर्ती होना चाहते थे मगर कार से टक्कर में उनकी जान के साथ परिजनों के सपने भी छीन लिए। इसी प्रकार योगी आदित्यनाथ प्रदेश के युवाओं के सपनों को तबाह कर रहे हैं। योगी जी गौरक्षा का ढ़ोंग रच रहे हैं। उनकी नाक के नीचे गौमांस की तस्करी हो रही है। मैं परिजनों को न्याय दिलाने के लिए हर स्तर की लड़ाई लडूंगा। दोनों मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रूपए एवं आजीविका चलाने के लिए एक सरकारी नौकरी दे।

उन्होंने कहा – अगर भाजपा की योगी सरकार द्वारा मदद नहीं मिलेगी तो इस सरकार को बदल दिया जाएगा। जो सरकार गरीबों, युवाओं, मजदूरों एवं महिलाओं की नहीं हो सकती उसे सत्ता में बने रहने का कोई हक़ नहीं है। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की नाक के नीचे गौमांस की तस्कारी की जा रही है।   वह सिर्फ गौरक्षा का ढ़ोंग रच रहे हैं।