उलमा कांफ्रेस के बाद अब लखनऊ में संत कांफ्रेंस करेगी पीस पार्टी

लखनऊः उलमा कांफ्रेंस के बाद अब पीस पार्टी संत कांफ्रेंस करने जा रही है। पीस पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता इंजीनियर शादाब चौहान ने बताया कि पीस पार्टी को संतों का अपार समर्थन मिल रहा है। उन्होंने कहा कि पश्चिमी यूपी से लेकर अवध तक, पूर्वांचल से लेकर बुंदेलखंड तक पीस पार्टी को लगातार संतों का समर्थन मिल रहा है। शादाब चौहान ने कहा अगले महीने की चार तारीख़ को यह कांफ्रेंस आयोजित की जाएगी, इस कांफ्रेंस में देश के जाने माने संत शिरकत करेंगे।

पीस पार्टी प्रवक्ता ने कहा कि पीस पार्टी द्वारा आयोजित होने वाले इस संत महासम्मेलन में यूपे के लगभग सभी जनपदो के संत शिरकत करेंगे। जानकारी के लिये बता दें कि अब तक पीस पार्टी की ओर से उलमा कांफ्रेंस आयोजित की जाती थी लेकिन यह पहली बार हो रहा है कि पीस पार्ट ने संत सम्मेलन आयोजित कराने का निर्णय लिया है। शादाब ने कहा कि पीस पार्टी शांति एंव संपूर्ण मानवता को न्याय दिलाने की विचारधारा में विश्वास रखती है।

कोरोना के बहाने मोदी पर तंज

पीस पार्टी प्रवक्ता ने प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा है। उन्होंने तंज करते हुए कहा कि कोरोना के संबंध में मेरा अनुभव है कि यह वायरस लॉकडाउन,स्कूलबंदी या वैक्सीन से नहीं बल्कि चुनाव से खत्म होता है जहां कोरोना बढे वहां चुनाव कराया जाए चुनाव आयोग से अनुरोध है। आखिर यह कैसा वायरस है जो चुनावी राज्यों से दूर रहता है या फिर प्रधानमंत्री से लेकर गृहमंत्री तक किसी को चिंता नहीं?

पीस पार्टी प्रवक्ता ने सूबे की बिगड़ी क़ानून व्यवस्था पर भी सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ से यूपी संभल नहीं पा रहा है लेकिन बंगाल में जाकर प्रचार कर रहे हैं। शादाब ने कहा कि यूपी में लॉ एंड ऑर्डर पूरी तरह ध्वस्त हो चुका है।