अखिलेश का आरोप ‘लोकतंत्र को कमजोर कर रही है भाजपा’

लखनऊः  समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) लोकतंत्र को कमजोर कर रही है और एक साजिश के तहत लोकतांत्रिक संस्थाओं की प्रासंगिकता समाप्त कर रही है। प्रथम महिला राज्यपाल एवं कवियत्री सरोजिनी नायडू की जयंती के अवसर पर श्रद्धासुमन अर्पित करते हुये श्री यादव ने शनिवार को कहा कि कहा कि महिलाओं के अधिकारों के लिए उनकी पार्टी हमेशा संघर्षशील रही है और महिला सुरक्षा एवं सम्मान के लिए प्रतिबद्ध है।

अखिलेश यादव ने कहा कि स्वतंत्रता आंदोलन से लोकतंत्र को ताकत मिली लेकिन भाजपा सरकार लोकतंत्र को कमजोर कर रही है। भाजपा साजिश के तहत लोकतांत्रिक संस्थाओं की प्रासंगिकता समाप्त कर रही है। देश आज संक्रमण के दौर में है। संविधान और संवैधानिक संस्थाओं पर हमला किया जा रहा है।

उन्होने कहा कि देश में कृषि की दुर्दशा है। भाजपा सरकार ने किसानों के साथ छल किया है। न तो उनकी आय दुगनी हुई और नहीं उन्हें फसल की लागत का ड्योढ़ा दाम मिला है। आज किसान अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहा है। जनसामान्य को भी भाजपा ने धोखा दिया है। उन्होंने कहा समाजवादी पार्टी किसानों के साथ है। उसकी खेत खलिहान बचाने की लड़ाई में समाजवादी पार्टी भी संघर्षरत है।

अखिलेश ने कहा कि राष्ट्रपति के अभिभाषण में केन्द्र सरकार की पांच ट्रिलियन डालर इकोनॉमी का उल्लेख क्यों नहीं है। उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार ने एक ट्रिलियन अर्थव्यवस्था की घोषणा की थी उसका क्या हुआ। उन्होने कार्यकर्ताओं का आव्हान किया कि वे एकजुटता के साथ इस बार 2022 के विधानसभा चुनाव में पार्टी के पक्ष में 90 प्रतिशत मतदान कराने का संकल्प लें। इसके लिए अभी से बूथ स्तर तक पूरी तैयारी करें। भाजपा की साजिशों के प्रति सावधान रहें और जनता के बीच जाकर समाजवादी सरकार की उपलब्धियों की चर्चा करें।