कॉमेडियन भारती सिंह को मजाक पड़ा भारी, मांगनी पड़ गई माफी

टेलिविजन की दुनिया की मशहूर कमीडियन भारती सिंह (Bharti Singh) फिलहाल कानूनी पचड़े में फंसी हैं. सबको अपनी बातों से हंसाने और गुदगुदाने वाली भारती ने इस बार मजाक-मजाक में कुछ ऐसा कह डाला है कि सिख समुदाय के लोग आपत्ति रहे हैं.

दरअसल अपने जोक्स से हंसाने वाली भारती ने दाढ़ी-मूछों को लेकर कुछ ऐसी बातें कह डाली कि शिरोमणी गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC) ने पुलिस केस करने का भी फैसला कर लिया है. इस केस में अमृतसर सिख संघटनों द्वारा भारती सिंह के खिलाफ प्रदर्शन किया गया. मामले को तूल पकड़ता देख भारती सिंह ने हाथ जोड़कर माफी भी मांगी है.

दरअसल हाल ही में भारती सिंह का एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें वो दाढ़ी मूंछ को लेकर कॉमेडी करती नज़र आईं थीं. एक टीवी शो में भारती सिंह कहती दिखती हैं, “मूंछ क्यों नहीं चाहिए? दाढ़ी मूंछ के बड़े फायदे होते हैं, दूध पीयो और दाढ़ी मुंह में डालो सवैयों का टेस्ट आता है. मेरी काफी दोस्तों की शादी हुई है न, जिनकी इतनी इतनी दाढ़ी है. सारा दिन दाढ़ी से जुएं निकालती रहती हैं.”

दाढ़ी-मूंछ पर विवादित टिप्पणी करने वाली मशहूर कॉमेडियन भारती सिंह की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रहीं। कॉमेडियन का ट्वीटर पर विरोध शुरू होने के बाद अब शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC) भारती सिंह के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करवाने जा रही है। दूसरी तरफ विवाद बढ़ता देखकर भारती सिंह ने ऑनलाइन आकर माफी मांग ली।

कॉमेडियन भारती सिंह का रविवार को एक वीडियो वायरल होना शुरू हुआ। इसमें भारती सिंह एक टीवी शो के दौरान दाड़ी-मूंछ पर टिप्पणी करती नजर आई। भारती का कहना था कि दाढ़ी-मूंछ क्यों नहीं चाहिए? दूध पीने के बाद दाढ़ी मुंह में डालो तो सेवइयों का टेस्ट आता है।

भारती सिंह इतने पर ही नहीं रुकीं। उन्होंने आगे कहा कि उनकी कई सहेलियों की शादी हुई है और वह अब दाढ़ी-मूंछों में से जुएं निकालने में व्यस्त रहती हैं।

हालांकि भारती सिंह ने यह टिप्पणी मजाक में की थी, लेकिन इसे लेकर ट्वीटर पर उनका विरोध शुरू हो गया. अब SGPC ने उनकी इस टिप्पणी को लेकर कार्रवाई करने की बात कही है.

भारती बोली- मैं सिर्फ कॉमेडी कर रही थी

विवाद बढ़ने के बाद कॉमेडियन भारती सिंह ने ऑनलाइन आकर माफी मांग ली .भारती ने कहा कि वह सिर्फ अपनी दोस्त के साथ कॉमेडी कर रही थी. उन्होंने कहीं भी किसी धर्म का नाम नहीं लिया. हर धर्म के लोग दाढ़ी और मूंछ रखते हैं. वह खुद अमृतसर में जन्मी हैं और वहीं बढ़ी हुई है. उन्हें पंजाबी होने पर गर्व है. फिर भी अगर उनकी शब्दावली से किसी को ठेस पहुंची है तो वह माफी मांगती हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.