कांग्रेस नेता ललन कुमार का दावा ”हर घर राशन” अभियान के तहत लखनऊ के 3000 से अधिक ज़रूरतमंदों को पहुंचाया राशन

लखनऊः उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया एवं कम्युनिकेशन विभाग के संयोजक ललन कुमार कोरोना संक्रमण के दौर में लॉकडाउन की वजह से परेशान लोगों की मदद के लिए अपनी विशाल टीम के साथ सामने आए। बिना भयभीत हुए उन्होंने अपनी टीम के साथ लोगों की निस्वार्थ भाव से सेवा की। उन्होंने लोगों की सेवा करने के लिए एक विशेष अभियान की शुरुआत की। इस अभियान को उन्होंने “मदद हमारी पहल” का नाम दिया। “मदद हमारी पहल” अभियान को उन्होंने 3 भागों में विभाजित किया। जिसमें “सेनेटाईज़ेशन ड्राइव”, “हर घर राशन” एवं “सबकी मदद” शामिल है।

ललन कुमार ने कहा कि प्रदेश के बड़े-बड़े नेता जब कोरोना से डरकर अपने घरों में बैठे हुए थे। गाँवों में संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा था। हालात इतने ख़राब हुए कि एक ही गाँव में दर्जनों लोगों की मृत्यु हुई। कई जगह तो पूरे परिवार ही उजड़ गए। लोगों को संक्रमण से बचाने का एकमात्र तरीक़ा जागरूकता एवं सेनेटाईज़ेशन ही बचा था। क्योंकि सरकार किसी भी प्रकार की सुविधा जनता को उपलब्ध कराने में असमर्थ दिखी। सरकार ने जब गाँवों में सेनेटाईज़ेशन के लिए कोई व्यवस्था नहीं की तब ललन कुमार ने निजी खर्चे से इसकी शुरुआत की। सेनेटाईज़ेशन ड्राइव के तहत अब तक वह लखनऊ के 100 से अधिक गाँवों का सेनेटाईज़ेशन करा चुके हैं।

वैसे तो पिछले वर्ष भी लॉकडाउन के समय ललन कुमार ने राशन वितरण किया था और हज़ारों लोगों तक पहुँचे थे। पर इस बार बड़ी टीम के साथ उन्होंने लखनऊ के विभिन्न क्षेत्रों में राशन पहुँचाया ताकि गरीब लोगों को 2 वक़्त की रोटी उपलब्ध कराई जा सके। अपनी टीम के साथ मिलकर उन्होंने “हर घर राशन” अभियान के तहत लखनऊ के विभिन्न क्षेत्रों में पहुँचकर लोगों को राशन पहुँचाया। अब तक करीब 3000 लोगों को वह राशन उपलब्ध करा चुके हैं।

“सबकी मदद” अभियान प्रारम्भ करके उन्होंने कोरोना एवं अन्य बीमारियों से पीड़ित मरीजों को ऑक्सीजन, दवा एवं अन्य आवश्यक सामग्रियां मुफ़्त में उपलब्ध करायीं। कोरोना की लहर अब कुछ धीमी हुई है मगर ललन कुमार का यह अभियान जारी है। उनके इस सेवा भाव से लोग काफ़ी प्रभावित हैं। ललन कुमार से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि   “जनता को अभी साथ और सहयोग की ज़रूरत है। जो मैं उन्हें देने का प्रयास कर रहा हूँ।“