Saturday, December 4, 2021

कुंभ से फैलते कोरोना संक्रमण पर सरकारें और दंगा परस्त मीडियो क्यों खामोश हैं?

Must Read

कोरोना को जमात और मुसलमानों से जोड़ देने वाला मीडिया कुंभ से फैलते संक्रमण पर चुप्पी साध रखी है. मरकज और मुसलमानों को गाली देने वाले दंगा परस्त एंकर न तो हल्ला बोल रहे हैं और न ही डीएनए कर रहे हैं. और ना ही किसी राज्य की पुलिस मुकदमा दर्ज रही है. ये बता रहा है कि मीडिया और सरकार पूर्वाग्रह से भरे हुए हैं.

आपको याद होगा पिछले साल लॉकडाउन के दौरान जब तबलीगी जमात के लोग दिल्ली के मरकज में फंस गए थे तो उनके खिलाफ मुकदमों की झड़ी लग गई थी. न्यूज चैनलों के स्टूडियो में बैठे एंकर के बीच मुसलमानों को देशद्रोही और इंसानियत के दुश्मन कहने की होड़ मच गई थी.

- Advertisement -

लेकिन आज जब हरिद्वार में चल रहे कुंभ में रोज 10-15 कोरोना का केस निकल रहा है. आंकड़े बता रहे हैं कि उत्तराखंड में 14 से 20 फरवरी के बीच एक हफ्ते में मात्र 109 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए थे. उसके बाद फिर ग्राफ बढ़ना शुरू हुआ और 21 से 27 फरवरी के बीच 242 केस सामने आए. इसी तरह 28 फरवरी से 6 मार्च के बीच 414 केस सामने आए. 7 से 13 मार्च के बीच 391 नए केस आए. लेकिन इस हफ्ते कोरोना संक्रमण एक बार फिर रफ्तार पकड़ते हुए नजर आ रहा है. रोज सौ के आसपास या फिर 100 से अधिक केस सामने आने लगे हैं. 14 से 20 मार्च के इस करंट वीक में अभी तक 557 केस सामने आ चुके हैं. लेकिन ना तो मीडिया में इसकी चर्चा हो रही और ना ही किसी राज्य की पुलिस कुंभ से स्नान करके लौट रहे लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर रही है.

केंद्र सरकार के स्वास्थ्य सचिव ने उत्तराखंड की सरकार को चिट्ठी लिखी है. स्वास्थ्य सचिव ने उत्तराखंड सरकार को लिखी चिट्ठी में कहा है कि अगर ऐसे ही चलता रहा तो स्थिति भयावह हो सकती है. कुछ कीजिए नहीं तो हालात काफी खराब हो सकते हैं.

इस चेतावनी के बाद भी कोई हलचल नहीं है. कहीं कोई चर्चा नहीं हो रही है. ये हालत तब है जब देश में रोज 40 हजार से ज्यादा कोरोना के मामले आ रहे हैं. देश के कई शहरों में कर्फ्यू लगाया जा रहा है. स्कूल-कॉलेज सब बंद हैं. कई राज्यों की सरकारों ने नाइट कर्फ्यू भी लगा रखा है.

इतना सबकुछ हो रहा है लेकिन कोई नहीं पूछ रहा कि कुंभ की इजाजत क्यों दी गई. ऐसे वक्त में जब पूरी दुनिया में कोरोना की दूसरी लहर चल रही है. लाखों लोगों की जिंदगी क्यों जोखिम में डाली जा रही है. ये खामोशी सरकार और मीडिया का दोहरा चरित्र उजागर कर रहा है.

Leave a Reply

- Advertisement -

Latest News

- Advertisement -

More Recipes Like This

- Advertisement -