गुजरात की महिला पत्रकार ने बताई हार्दिक पटेल के इस्तीफे की ‘इनसाइड स्टोरी’

गुजरात में विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है. गुजरात के बड़े पाटिदार नेता हार्दिक पटेल ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने सोनिया गांधी को पत्र भी लिखा है. इसमें उन्होंने राहुल गांधी का नाम लिए बगैर उनपर निशाना साधा है. हार्दिक पटेल ने कहा, जब देश संकट में था, कांग्रेस को नेतृत्व की जरूरत थी, तब हमारे नेता विदेश में थे. 

सोनिया गांधी को लिखे पत्र में हार्दिक पटेल ने राम मंदिर, सीएए कैसे मुद्दो पर कांग्रेस के स्टैंड को भी अपने इस्तीफे की वजह बताया है. लेकिन गुजरात की एक महिला पत्रकार ने हार्दिक पटेल के कांग्रेस से इस्तीफे की कुछ और वजह बताई है.

हार्दिक पटेल के इस्तीफे के तुरंत बाद दीपल त्रिवेदी नाम की एक पत्रकार ने एक के बाद एक ट्वीट किए जिसमें उन्होंने बताया कि पिछले दिनों से गुजरात की राजनीति में क्या चल रहा था.

दिपाल त्रिवेदी ने लिखा है कि 2020 में हार्दिक कांग्रेस पर दबाव बना रहे थे कि पार्टी उन्हें उनके जन्मदिन से पहले राज्यसभा सदस्य बनाए या फिर गुजरात कांग्रेस का अध्यक्ष बनाए. उस वक्त भी उन्होंने पार्टी छोड़ने की धमकी दी थी जिसके बाद उन्हें गुजरात कांग्रेस का वर्किंग प्रेसिडेंट बना दिया गया.

फरवरी 2021 में हार्दिक एक बार फिर कांग्रेस से नाराज़ हो गए. आरोप है कि उन्होंने सूरत नगर निगम चुनाव में आम आदमी पार्टी के उम्मीदवारों को चुनाव जीतने में मदद की. कांग्रेस ने उनसे जवाब भी मांगा था लेकिन उन्होंने अपने ऊपर लगे आरोपों को गलत बताया था.

हार्दिक ने भले ही कांग्रेस से आज इस्तीफा दिया है लेकिन इस इस्तीफे की पटकथा काफी पहले ही लिखी जा चुकी थी. हार्दिक का इस्तीफा तो बस औपचारिकता भर है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.