महंगाई की एक और मार, मोदी सरकार ने किया जीना दुश्वार

विधानसभा चुनाव खत्म होते ही मोदी सरकार ने आम आदमी की जेब को तगड़ा झटका दिया है. मंगलवार से घरेलू एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में 50 रुपये का इजाफा हुआ है. इससे बिहार, मध्य प्रदेश, झारखंड, उत्तर प्रदेश और छत्तीसगढ़ में 14.2 किलो का बिना सब्सिडी वाला सिलेंडर 1 हजार रुपए के ऊपर निकल गया है. पटना में ये 1048 रुपए का मिल रहा है. दिल्ली की बात करें तो यहां अब 14.2 किलो का बिना सब्सिडी वाला सिलेंडर 949.50 रुपए में मिलेगा.

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव को देखते हुए कीमत नहीं बढ़ाई गई थी. लेकिन चुनाव खत्म होते ही गैर-सब्सिडी वाला सिलेंडर महंगा हो गया. आखिरी बार 6 अक्टूबर को एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में बढोतरी हुई थी. उसके बाद 5 राज्यों में चुनाव शुरू हो गया. चुनावों के बाद अब एक बार फिर मोदी सरकार ने घरेली एलपीजी सिलेंडर का दाम बढ़ाकर आम आदमी की परेशानी बढ़ा दी है.

घरेलू एलपीजी सिलेंडर के साथ-साथ पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी की गई है. तेल कंपनियों ने 137 दिनों बाद आज पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाए हैं. पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 80 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है.

पहले यह था रेट : अभी 14.2 किलोग्राम वजन का नॉन सब्सिडी रसोई गैस सिलेंडर 962 में मिल रहा था. पांच किलोग्राम वजन का नान सब्सिडी रसोई गैस सिलेंडर 353, 10 किलोग्राम का नॉन सब्सिडी कम्पोजिट रसोई गैस सिलेंडर 677 और पांच किलोग्राम का नॉन सब्सिडी कम्पोजिट सिलेंडर 353 में मिल रहा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.