अनुराग कश्यप पर पड़े छापे MeeToo का खेल और छापों की असली वजह…..

गिरीश मालवीय

अनुराग कश्यप, और तापसी पुन्नू पर पड़े आयकर के छापे सोशल मीडिया में चर्चा का विषय बन गए हैं इस संदर्भ में कई बुद्धिजीवियों ने लिखा है कि यह बदले की कार्यवाही से प्रेरित है लेकिन इस मामले में मेरा दृष्टिकोण थोड़ा सा अलग है। यह छापे सिर्फ इन दोनों पर ही नहीं पड़े हैं बल्कि ओर भी लोगो जाँच के दायरे में है यह छापे उस खेल को बेनकाब कर रहे हैं जो सेलेब्रिटी मैनेजमेंट , टेलेंट मैनेजमेंट के नाम पर खुली बड़ी बड़ी PR एजेंसी खेलती है और बड़ी मात्रा में कर अपवंचन करती है।

अनुराग कश्यप की एक फ़िल्म कम्पनी हुआ करती थी 2018 में उसे बन्द कर दिया गया वह थी ‘फ़ से फैंटम’ याद होगा बहुत से लोगों को, इस कम्पनी में चार पार्टनर थे, अनुराग कश्यप, विक्रमादित्य मोटवानी, विकास बहल और मधु मंतेना। यह इनकम टैक्स सर्च अनुराग कश्यप की फैंटम फिल्म्स के संबंध में हैं. जिसमे उनके अलावा,विक्रमादित्य मोटवानी, निर्माता मधु मेंटेना, और विकास बहल भी शामिल हैं, मार्च 2015 में,यह सब एक साथ मुंबई में फिल्म निर्माण कंपनी फैंटम फिल्म्स में आए थे. तब रिलायंस एंटरटेनमेंट ने कंपनी में 50 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी थी.

मीटू प्रकरण के बाद फैंटम फ़िल्म में दरार पड़ी….

दरअसल इसके एक पार्टनर विकास बहल जिन्होंने कंगना को लेकर क्वीन जैसी फ़िल्म बनाई थी उन पर एक लड़की ने मीटू टाइप का इल्जाम लगाया, बाद में कँगना ने भी विकास बहल पर छेड़छाड़ का इल्जाम लगाया था यही से उनका पराभव शुरू हुआ। यह वही खेल है जिसके बारे में सुशांत सिंह केस के बाद से लगातार लिख रहा हूँ, यह बहुत उलझा हुआ खेल है यह वही सेलिब्रिटी मैनेजमेंट कंपनियों वाला खेल है।

ये एजेंसिया ही डिसाइड करती है कि मिडिया में इन सेलेब्रिटीज़ के बारे में क्या छप रहा है, कहां छप रहा है और उसे कैसे ठीक करना है ये जिम्मेदारी पीआर मैनेजर्स की होती है. जो ऐसी सेलेब्रिटी मैनेजमेंट कम्पनियो में काम करते हैं। उन सभी टिप्पणियों में मैने लगातार क्वान सेलिब्रिटी मैनेजमेंट का जिक्र किया था क्वान देश की सबसे बड़ी सेलिब्रिटी मैनेजमेंट कम्पनी है 2018 में मीटू के बाद क्वान एंटरटेनमेंट के प्रमुख अनिर्बान दास ब्लाह यौन शोषण कें आरोप के बाद इस्तीफा देना पड़ा।

अभी जो जो जांच चल रही है उनमें मूलतः इसी सेलेब्रिटी मैनेजमेंट बिजनेस की जाँच की जा रही है अभी अनुराग ओर तापसी पन्नू के अलावा  शिभाशीष सरकार (सीईओ रिलायंस एंटरटेनमेंट), अफसर जैदी (सीईओ Exceed Entertainment), विजय सुब्रमण्यम (सीईओ Kwan) की संपत्तियों पर भी सर्च चल रही है। क्वान पर पहले भी लिख चुका हूँ …..क्वान को जो कंपनी होल्ड करती है उसका नाम है बिग बैंग मीडिया वेंचर्स  यह कंपनी मधु मंतेना की है मधु मंतेना अनुराग कश्यप के पुराने साथी रहे हैं, क्वान के बारे में कहा जाता है कि 2018 में सलमान खान ने इसकी बड़ी हिस्सेदारी खरीद ली थी लेकिन इसकी पुष्टि नही हो पाई है।

कुछ महीनो पहले एक्ट्रेस पायल घोष ने मशहूर फ़िल्म निर्माता अनुराग कश्यप पर यौन शोषण का आरोप लगाया है, पायल का कहना है कि अनुराग ने उनके साथ जबरदस्ती की  अनुराग ने इस बात को सिरे से खारिज कर दिया उन्होंने ट्वीट कर लिखा है, ‘अभी तो बहुत आक्रमण होने वाले हैं। यह बस शुरुआत है। यदि बड़े पर्सपेक्टिव में सोचा जाए तो मोदी सरकार सिर्फ अनुराग कश्यप या तापसी को टारगेट नही कर रही है क्वान जैसी सेलेब्रिटी मैनेजमेंट कम्पनी के जरिए वह पूरे बॉलीवुड पर कंट्रोल करने की कोशिश में है जिससे सेकड़ो सेलेब्रिटीज जुड़े हैं जिनके सारे वित्तीय लेनदेन इसी कंपनी के जरिए होते आए हैं।

(लेखक स्वतंत्र टिप्पणीकार हैं, ये उनके निजी विचार हैं)