मोहम्मद अज़हरुद्दीन ने 37 गेंद पर ठोका धुआंधार शतक, T-20 में पहली बार बनाया यह रिकॉर्ड

नई दिल्लीः कलाई के जादूगर भारतीय क्रिकेटर टीम के पूर्व कप्तान अज़हरुद्दीन के हमनाम ने क्रिकेट जगत में इतिहास रच दिया है। सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में बुधवार को खेले गए मैच में यह इतिहास केरल के बल्लेबाज मोहम्मद अज़हरुद्दीन ने रचा है।  केरल की टीम की ओर से खेलते हुए मोहम्मद अजहरुद्दीन ने मुंबई के खिलाफ 37 गेंद पर शतक ठोककर कमाल कर दिया है। जानकारी के लिये बता दें कि सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी का यह दूसरा सबसे तेज शतक है।  इस ट्रॉफी में सबसे तेज़ शतक जमाने का रिकॉर्ड ऋषभ पंत के नाम हैं। पंत ने सैयद मुश्ताक ट्रॉफी में साल 2018 में 32 गेंद शतक ठोका था।

मोहम्मद अज़हरुद्दीन मुंबई के खिलाफ बुधवार को खेली गई अपनी 137 रन की पारी में नो चौका और 11 छक्के लगाने में सफल रहे। उन्होंने सिर्फ 54 गेंद पर 137 रन की नाबाद पारी खेली। बता दें कि  मोहम्मद अज़हरुद्दीन केरल की तरफ से टी-20 क्रिकेट में शतक जमाने वाले पहले बल्लेबाज हैं। इससे पहले केरल की तरफ से साल 2013 में रोहन प्रेम ने नाबाद 92 रन बनाए थे। केरल के अज़हर की बदौलत केरल की टीम ने मुंबई द्वारा दिए गए लक्ष्य को केवल 16वें ओवर में ही हासिल कर लिया। मुंबई ने केरल को 197 रनों का लक्ष्य दिया था। मोहम्मद अजहरुद्दीन ने छक्का जमाकर अपनी टीम को जीत दिला दी।

मोहम्मद अज़हरुद्दीन की पारी को देखकर महशहूर कमेंटेटर हर्षा भी ट्वीट किए बिना नहीं रह पाए। उन्होंने लिखा, ‘मैंने कई साल पहले मोहम्मद अजहरुद्दीन नामक एक असाधारण खिलाड़ी को देखा था, अब मैं उसी नाम से एक और को देख रहा हूं, वाह, वह शॉट खेल सकते हैं।

26 वर्षीय के मोहम्मद अज़हरुद्दीन द्वारा टी-20 क्रिकेट में बनाया गया भारत की ओर से यह तीसरा सबसे बड़ी खेलने का रिकॉर्ड है। पहले नंबर पर श्रेयस अय्यर आते हैं जिनके नाम टी-20 क्रिकेट में 147 रन की पारी खेलने का रिकॉर्ड है, वहीं दूसरे नंबर पर पुनीत बिष्ट हैं जिन्होंने मिजोरम के खिलाफ 146 रन की पारी खेली है। केएल राहुल ने टी-20 क्रिकेट में 132 रन की पारी खेली है तो वहीं मनीष पांडे ने 129 रन की पारी टी-20 क्रिकेट में खेली है।