AIMIM से नहीं है पीस पार्टी का मुक़ाबला : डॉक्टर अय्यूब

लखनऊः पीस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अय्यूब ने ओवैसी पर बयान देकर राजनीतिक गलियारे में हलचल तेज़ कर दी है। पीस पार्ट के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अय्यूब ने पार्टी के स्थापना दिवस के मौक़े पर कहा कि समाजवादी पार्टी समेत तमाम सेक्यूलर पार्टियां पीस पार्टी को सत्ता में लाने के लिये हमारे साथ आएं। उन्होंने कहा कि 2018 के उपचुनाव में पीस पार्टी ने समाजवादी पार्टी ने सपा की मदद की थी, जिसकी बदौलत सपा ने गोरखपुर और फूलपुर जैसी भाजपा की मज़बूत सीटों पर जीत हासिल की थी, इसलिये अब समाजवादी पार्टी को हमारा साथ देना चाहिए।

बता दें की पीस पार्टी के स्थापना दिवस के मौक़े पर लखनऊ में पार्टी द्वारा उलमा कांफ्रेंस का आयोजन किया गया था, इस कांफ्रेस के बाद पीस पार्टी अध्यक्ष ने प्रेस कांफ्रेंस की, जिसमें उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी का मकसद अहकाम ए इलाही के रास्ते पर चलकर भारतीय संविधान के अनुसार सत्ता हासिल करना है। उन्होंने दावा किया कि इसमें वक्त जरूर लगेगा लेकिन कामयाबी भी मिलेगी। उन्होंने कहा कि देश की तमाम सेक्यूलर पार्टियों को हमारे साथ आना चाहिए।

ओवैसी पर क्या बोले अय्यूब

पीस पार्टी अध्यक्ष ने ऑल इंडिया मजलिसल ए इत्तेहादुल मुसलेमीन के अध्यक्ष असद ओवैसी को अपना प्रतिद्वंद्वी मानने से इनकार कर दिया। एक सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि वे ओवैसी को अपना प्रतिद्वंद्वी नहीं मानते, इतना ही नहीं डॉक्टर अय्यूब ने कहा कि उन्हें (ओवैसी को) और अन्य सेक्यूलर पार्टियों को हमारे साथ आना चाहिए।

डॉक्टर अय्यूब ने प्रधानमंत्री मोदी द्वारा किसानों को आंदोलनजीवी बताने पर भी कटाक्ष किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री का संबंध जिस दल से है वह पार्टी तो खुद आंदोलन करके सत्ता में आई है। उन्होंने कहा कि पीस पार्टी 2022 में लगभग ढ़ाई सो सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेगी। डॉक्टर अय्यूब ने दावा किया कि 2022 में यूपी में सत्तापरिवर्तन होगा, जिसमें पीस पार्टी महत्तवपूर्ण भूमिका निभाएगी।