पीस पार्टी प्रवक्ता शादाब चौहान बोले ‘मुझे जूतियां उठाने की सियासत नहीं आती।’

लखनऊः पीस पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता  इंजीनियर शादाब चौहान ने ट्वीट कर कहा कि मुझे जूतियां उठाने की सियासत नहीं आती। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि “हमारी लड़ाई है हुक़ूमत में शिराक़तदार बनने की मुझे जूतियां उठाने की सियासत नहीं आती। आखरी सांस तक मेरा मकसद एहकाम ए इलाही निजाम ए मुस्तफा का राज कायम करना रहेगा इंशाल्लाह चाहे किसी भी तरह मुमकिन हो।“

पीस पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कई मुद्दों पर एक के बाद एक कई ट्वीट किये हैं। उन्होंने हरियाणा के मेवात में जिम ट्रेनर आसिफ के हत्यारोपियों के समर्थन में हुई पंचायत पर भी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि सड़ा हुआ समाज हमारे हिंदुस्तान में कभी बलात्कारियों को बचाने के लिए तिंरगा रैली तो कहीं एक बेकसूर मुसलमान के हत्यारों को बचाने के लिए पंचायत करते हैं, मतलब साफ है कि उनका न्यायव्यवस्था और कानून में कोई विश्वास नहीं।

योगी पर ली चुटकी

पांच जून को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का जन्मदिन था। उनके जन्मदिन पर पीएम मोदी समेत कई बड़े नेताओं ने उन्हें ट्वीट कर जन्मदिन की बधाई नहीं दी, इस पर चुटकी लेते हुए शादाब ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी अमित शाह व भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत कई बड़े नेताओं ने सीएम योगी को जन्मदिन की शुभकामनाएं नहीं दी मतलब साफ है कि यूपी के मुख्यमंत्री के काम से भाजपा भी खुश नहीं यहां सिस्टम लड़खड़ा चुका है शिक्षा रोजगार कोरोना,महिला सुरक्षा, Law& order हर क्षेत्र में फेल यूपी सरकार।

शादाब चौहान ने उत्तर प्रदेश में पिछले दिनों हुईं घटनाओं पर सरकार को घेरा है। उन्होंने कहा कि यूपी में हिंसाजीवी गैंग द्वारा इंसानों के साथ होने वाली हैवानियत की घटनाओं में अचानक इज़ाफ़ा ना होता अगर  उत्तर प्रदेश पुलिस ने अगर इन घटनाओं के दरिंदों पर NSA लगाकर उन्हें जेल में डाला होता तो आतंकी दुबारा ऐसी हरकत ना करते. रिजवान को जय श्री राम ना कहने की वजह से पीटा जाना दुखद है।