27 मई को हो जाती सिद्धू मूसेवाला की हत्या, ऐसे बची थी जान

दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या के सिलसिले में दो शूटर समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. अधिकारियों ने बताया कि आरोपियों की पहचान हरियाणा के सोनीपत निवासी प्रियव्रत उर्फ फौजी (26), झज्जर जिले का रहने वाला कशिश (24) और पंजाब के बठिंडा का निवासी केशव कुमार (29) के तौर पर हुई है. पुलिस ने कहा कि तीनों को 19 जून को गुजरात के कच्छ से गिरफ्तार किया गया है. वहीं पूछताछ के दौरान शूटर्स के सरगना प्रियव्रत फौजी ने सिद्धू मूसेवाला को लेकर चौंकाने वाला खुलासा किया है.

प्रियव्रत फौजी ने बताया कि  27 मई को ही सिद्धू की हत्या हो जाती है, लेकिन छोटी सी गलती की वजह से वह बच गया. उसने बताया कि 27 मई को सिद्धू मूसेवाला अकेले गाड़ी में बैठकर निकले थे, जिसके बाद बोलेरो और कोरोला कार में सवार शूटर सिद्धू के पीछे पड़ गए थे. सिद्धू, किसी केस के सिलसिले में कोर्ट के लिए निकले थे और उनकी गाड़ी के पीछे शूटर की गाड़ी ने पीछा करना शुरू कर दिया. इस दौरान गाड़ी गांव की सड़क की जगह मेन हाई-वे पर तेजी से चलने लगी और शूटर बहुत दूर तक सिद्धू की गाड़ी का पीछा नहीं कर पाए और प्लान फेल हो गया. शूटर के पास से बरामद हथियार इंडियन मेड नहीं है. सिद्धू मूसेवाला के नाम से मशहूर शुभदीप सिंह सिद्धू की 29 मई को पंजाब के मानसा जिले में अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी.

गिरफ्तार प्रियव्रत फौजी से पूछताछ के बाद ग्रेनेड लांचर, हैंड ग्रेनेड, इलेक्ट्रोनिक डेटोनेटर और AK-47 जैसी दिखने वाली रायफल बरामद हुई है, ये सभी हथियार इंडियन मेड नहीं है, स्पेशल सेल के सूत्रों के मुताबिक, ऐसे हथियार पिछले दिनों पाकिस्तान से बड़े पैमाने पर ड्रोन से गिराए गए थे, ये हथियार भी उसी खेप का हिस्सा हो सकता है.

बिश्नोई गैंग पाकिस्तान रूट से हथियार मंगवाता रहा है!

लारेंस बिश्नोई का पाकिस्तान में अच्छा नेटवर्क है. इसके अलावा पंजाब का गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिय भी पाकिस्तान से ड्रग मंगवाता था, जिसके साथ हथियार भी कई बार वो मंगवा चुका है. जग्गू ने पूछताछ में इस बात का खुलासा भी किया था कि एक बार उसने 40 पिस्टल मंगवाई थी. बिश्नोई गैंग पाकिस्तान, मध्य प्रदेश, मुंगेर से हथियार मंगवाता रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.