आसमान छूती महंगाई ने तोड़ दी आम लोगों की कमर: सोनिया

नयी दिल्लीः  कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में जारी वृद्धि पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए कहा है कि खाद्य तेल, दालें तथा अन्य ज़रूरी वस्तुओं की आसमान छू रही कीमतों ने आम लोगों की कमर तोड़ दी है। सोनिया गांधी ने गुरुवार को यहां कांग्रेस के प्रभारी महासचिवों और सचिवों की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि आवश्यक वस्तुओं के दाम आसमान छू रहे हैं। पेट्रोल और डीजल के दाम बहुत बढ़ गए हैं जिससे खाद्य तेल, दाल तथा जरूरी वस्तुओं की कीमत आम लोगों की पहुंच से बाहर हो गयी है।

उन्होंने कोरोना की दूसरी लहर का जिक्र करते हुए कहा कि यह महामारी असंख्य परिवारों पर कहर बनकर टूटी और इसने पूरे देश को हिला कर रख दिया था। लाखों लोगों को महामारी में जान गंवानी पड़ी और असंख्य परिवारों को इस कहर से अपनों को खोना पड़ा है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि अब कोरोना की तीसरी लहर की आशंका जतायी जा रही है। इसमें दूसरी लहर की तरह दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति दोबारा नहीं बने, इसलिए आवश्यक कदम उठाए जाने की जरूरत है। उनका कहना था कि कोरोना की लड़ाई में अब तक सरकार की तरफ से जो कमियां सामने आई, उन्हें उजागर करने के लिए कांग्रेस ने श्वेत पत्र तैयार किया है। उन्होंने उम्मीद जतायी कि सरकार इन सब सुझावों को ध्यान में रखते हुए कदम उठाएगी और संभावित तीसरी लहर की असर को कम किया जा सकेगा।

मानहानि मामले में गुजरात की अदालत में पेश हुए राहुल गांधी

वरिष्ठ कांग्रेस नेता, पूर्व पार्टी अध्यक्ष और लोकसभा सांसद राहुल गांधी आपराधिक मानहानि के एक मामले में आज गुजरात के सूरत शहर की एक अदालत में पेश हुए। राहुल हवाई अड्डे से यहां सत्र अदालत परिसर पहुंचे और वहां स्थित चीफ़ जूडिशियल मैजिस्ट्रेट ए एन दवे की अदालत में पेश हुए और उन्होंने अपना बयान दर्ज कराया। इससे पहले उन्होंने ट्वीट किया था कि ‘अस्तित्व का पूरा रहस्य ही भयमुक्तता है।’

यह मामला सूरत के स्थानीय भाजपा विधायक पूर्णेश मोदी ने दायर किया था। आरोप है कि 2019 के पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान राहुल ने कर्नाटक के कोलार में एक चुनावी रैली में पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के आरोपी और भगोड़े व्यवसायी नीरव मोदी, आईपीएल के पूर्व चेयरमैन ललित मोदी के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना करते हुए कहा था कि ‘सभी मोदी चोर हैं’। ऐसा कर उन्होंने मोदी समुदाय की भावना को आहत किया और मानहानि की थी। यह मामला भारतीय दंड संहिता की धारा 499 और 500 के तहत दर्ज की गयी थी। राहुल पिछली बार 10 अक्टूबर 2019 को इस प्रकरण में अदालत में पेश हुए थे। राहुल अदालत में पेशी के बाद नयी दिल्ली लौटने के लिए हवाई अड्डा रवाना हो गये।

ज्ञातव्य है कि गुजरात में राहुल के ख़िलाफ़ मानहानि के कुल तीन मामले दर्ज हैं। इनमे से दो अहमदाबाद में हैं। उन मामलों में उन्हें व्यक्तिगत पेशी से छूट और ज़मानत मिली हुई है। इनमे भी वह 11 अक्टूबर 2019 को अदालत में पेश हुए थे। इनमे से एक मामला अहमदाबाद महानगरपालिका के भाजपा के पार्षद कृष्णवदन ब्रह्मभट्ट ने दर्ज करायी है। उनका आरोप है कि राहुल ने भाजपा के तत्कालीन अध्यक्ष अमित शाह को जबलपुर में अपनी एक चुनावी रैली में हत्या का आरोपी बता दिया था। दूसरा मामला अहमदाबाद ज़िला सहकारी बैंक के तत्कालीन चेयरमैन ए पटेल ने नोटबंदी के दौरान इस बैंक में बड़े पैमाने पर पुराने नोट बदलने के बारे में राहुल के ट्वीट और बयान को लेकर दर्ज कराया था। तत्कालीन भाजपा अध्यक्ष अमित शाह इस बैंक के तब निदेशक भी थे।