ममता से मिलकर बोले तेजस्वी ‘बंगाली संस्कृति और पहचान को कभी भी ख़त्म नहीं होने देंगे।’

नई दिल्लीः बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री एंव राजद नेता तेजस्वी यादव ने आज बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाक़ात की है। मुलाक़ात के बाद उन्होंने कहा कि बंगाली संस्कृति और पहचान को कभी भी ख़त्म नहीं होने देंगे। तेजस्वी यादव ने कहा कि आज कोलकाता में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री आदरणीय ममता बनर्जी जी से आगामी चुनावों के संदर्भ में मुलाक़ात की।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा निरंतर देश के संघीय ढाँचे और संवैधानिक संस्थाओं पर प्रहार किया जा रहा है। देश एक महत्वपूर्ण चौराहे पर खड़ा है। केंद्र सरकार जन कल्याणकारी कामों को छोड़कर अपनी सहयोगी संस्थाओं के सहयोग से हर वक्त विभिन्न-विभिन्न राज्यों में चुनाव लड़ने में अधिक व्यस्त रहती है। किसी भी राज्य के विधानसभा चुनावों में कभी भी भारत सरकार और उसके सम्पूर्ण मंत्रिपरिषद का इस प्रकार की सक्रियता कभी भी नहीं देखी गयी।

तेजस्वी ने कहा कि हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव का मानना है कि विपक्ष के लिए यह समय देश के लोकतांत्रिक मूल्यों की रक्षा, विचारधारा की प्रतिबद्दता तथा सिद्धांतों की स्थिर राजनीति का है। देश एक महत्वपूर्ण चौराहे पर खड़ा है। यह वक्त जनतंत्र हित में स्वतंत्रता, समानता, सामाजिक न्याय, आरक्षण, क्षेत्रीय संस्कृति, भाषा, रहन-सहन, सांस्कृतिक पहचान और धर्मनिरपेक्षता के संवैधानिक मूल्यों को बचाने का है।

तेजस्वी ने कहा कि देश में बंगाल की विशिष्ट पहचान है। बंगाल के लोग बहुत ही प्रबुद्ध है। बंगाल की अपनी सांस्कृतिक और राजनीतिक पहचान है। मुझे पूर्ण विश्वास है कि बंगाल के लोग विभाजनकारी नीति में यक़ीन रखने वाले बाहर के लोगों के हाथों बंगाली संस्कृति और पहचान को कभी भी ख़त्म नहीं होने देंगे।