ताज मोहम्मद बने दिल्ली उर्दू अकादमी के उपाध्यक्ष,पत्रकार माजिद निज़ामी गवर्निंग काउंसिल में शामिल

नई दिल्ली: दिल्ली सरकार द्वारा दो साल के कार्यकाल के लिए उर्दू अकादमी दिल्ली का पुनर्गठन किया गया है। दिल्ली सरकार द्वारा पूर्व पार्षद हाजी ताज मोहम्मद को उर्दू अकादमी का उपाध्यक्ष बनाया है। जानकारी के लिये बता दें कि हाजी ताज मोहम्मद जुलई 2019 में कांग्रेस छोड़कर आम आदमी पार्टी में शामिल हुए थे। अब उन्हें उर्दू अकादमी के उपाध्यक्ष जैसी महत्तवपूर्ण ज़िम्मेदारी सौंपी गई है। इसके अलावा कई पत्रकारों को उर्दू अकादमी की गवर्निंग काउंसिल में लिया गया है।

गवर्निंग काउंसिल में रहेंगी ये हस्तियां

दिल्ली उर्दू अकादमी की गवर्निंग काउंसिल में जिन लोगों को शामिल किया गया है, उनमें प्रसिद्ध उर्दू पत्रकार अब्दुल माजिद निज़ामी, मोहम्मद मुस्तक़ीम खान, शबाना बानो शामिल हैं। इनके अलावा जावेद रहमानी, रिफअत अली जैदी, मन्ने खान, शम्स सलीम सिद्दीकी, रुखसाना खान, सलीम चौधरी, शबाना बानो, मोहम्मद शकील, ऐनुल हक, मोहम्मद जियाउल्लाह, महमूद खान, नखत परवीन, वसीम इसरार कुरैशी, मोहम्मद शादाब, शेख फारूक ज़मान को भी उर्दू अकादमी की गवर्निंग काउंसिल में शामिल किया गया है। साथ ही मोहम्मद नफीस मंसूरी को उर्दू अकादमी का सचिव बनाया गया है।

कौन हैं माजिद निज़ामी?

उर्दू अकादमी दिल्ली की गवर्निंग काउंसिल में शामिल होने वाले अब्दुल माजिद निज़ामी उर्दू के जाने माने पत्रकार हैं। उनका शुमार उर्दू अख़बार के सबसे युवा संपादकों में होता है। वे दिल्ली समेत उत्तराखंड और यूपी के कई शहरों से प्रकाशित होने वाले उर्दू रोज़नामा हिंद न्यूज़ के प्रधान संपादक हैं। इसके अलावा वे दैनिक हिंद न्यूज़ हिंदी और उर्दू हिंदी वेब पोर्टल के भी संपादक हैं। माजिद निज़ामी को बीते वर्ष हकीम अजमल ख़ान आवार्ड भी मिला था। पत्रकारिता में महत्तवपूर्ण भूमिका निभाने के लिए यह आवार्ड मशहूर पत्रकार रवीश कुमार और अब्दुल माजिद निज़ामी को एक ही मंच पर दिया गया था।