भारतीय लोकतंत्र की स्वतंत्रता पर ‘संकट’ चंद्रशेखर बोले ‘भाजपा को हटाना होगा।’

नई दिल्लीः अमेरिकी संस्था फ्रीडम हॉउस द्वारा भारत को ‘स्वतंत्र’ से हटाकर ‘आंशिक स्वतंत्र’ की लिस्ट में शामिल किया है। इस पर तमाम राजनीतिक दलों ने सत्ताधारी दल भाजपा को घेरना शुरु कर दिया है। इसी क्रम में आज़ाद समाज पार्टी के प्रमुख चंद्रशेखर आज़ाद ने इस चिंताजनक बताते हुए कहा कि यह भारत को आंशिक स्वतंत्र राष्ट्र की लिस्ट में शामिल किया जाना बेहद चिंताजनक है।

आज़ाद समाज पार्टी के अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा सरकार दुनिया के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश में विरोध की आवाज को कुचलकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत की छवि धूमिल कर रही है। भाजपा को हटाना होगा। इसके अलावा उन्होंने दिल्ली पुलिस द्वारा आज़ाद समाज पार्ट के संसद घेराव विरोध प्रदर्शन की परमीशन न देने पर भी तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

उन्होंने कहा कि लेटरल एंट्री एवं निजीकरण के खिलाफ भीम आर्मी एवं आज़ाद समाज पार्टी के सात मार्च संसद घेराव आंदोलन को दिल्ली पुलिस का परमिशन नहीं देना भाजपा सरकार की तानाशाही को दर्शाता है।  विरोध की आवाज़ को कुचला जा रहा है। बहुजन समाज जल्द ही इसके खिलाफ देशव्यापी आंदोलन के लिए तैयार रहे। बता दें कि आंदोलन से निकलकर अपनी अलग का पार्टी बनाने वाले चंद्रशेखर आज़ाद को हाल ही में दुनिया की मशहूर पत्रिका टाईम ने उभरते हुए नेताओं में शुमार किया है।

चंद्रशेखर आज़ाद ने हाल ही में एक इंटरव्यू में कहा कहा था कि परिवर्तन लाने के लिए राजनीति में जगह बनानी पड़ेगी, इसीलिए हमने आजाद समाज पार्टी की स्थापना की है। इसी इंटरव्यू में उन्होंने सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा था कि देश के चार स्तम्भों में से तीन पर कब्जा किया जा चुका है। न्यायपालिका, मीडिया, विधान पालिका ,सबको पता है कि इन पर कौन राज कर रहा है।