IAS नियाज़ ख़ान से मिलने का समय क्यों मांग रहे हैं ‘द कश्मीर फाइल्स’ के निर्देशक

न्यूज डेस्क: एक दिन पहले मुस्लिमों के नरसंहार पर फिल्म बनाने की अपनी बात से विवादों में आए भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी नियाज़ ख़ान आज एक बार फिर ये कहकर सुर्खियों में आ गए कि ‘द कश्मीर फाइल्स’ के निर्देशक को इस फिल्म से कमाई राशि को कश्मीरी पंडितों के बच्चों के पुनर्वास में लगा देना चाहिए.

नियाज़ ख़ान ने अपने ट्वीट में कहा है कि ये बहुत अच्छी बात है कि इस फिल्म की कमाई करीब डेढ़ सौ करोड़ रुपए तक पहुंच गई है. लोग कश्मीरी पंडितों की भावनाओं को बहुत सम्मान दे रहे हैं. इसके आगे उन्होंने लिखा, ‘मेरा मानना है कि फिल्म के निर्माता को पूरी कमाई कश्मीरी पंडितों के बच्चों की शिक्षा और उनके लिए कश्मीर में घर बनवाने के लिए दे देनी चाहिए. ये बहुत बड़ा सेवा कार्य होगा.’

इसके पहले कल नियाज़ ख़ान ने अपने ट्वीट में कहा था कि कश्मीर फाइल्स में कश्मीरी पंडितों का दर्द दिखाया गया है. निर्माताओं को देश भर में बड़ी संख्या में हो रहे मुस्लिमों के नरसंहार पर भी फिल्म बनानी चाहिए. मुस्लिम कोई कीड़े-मकौड़े नहीं, जीते-जागते इंसान और इसी देश के नागरिक हैं.

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वे विभिन्न मौकों पर हुए मुस्लिमों के नरसंहार पर एक किताब लिखने के बारे में सोच रहे हैं, ताकि कोई निर्माता उनकी किताब पर भी कश्मीर फाइल्स जैसी कोई फिल्म बनाए और अल्पसंख्यकों के दर्द को भी सभी के सामने लाया जा सके. नियाज़ ख़ान हालांकि अपने इन सभी ट्वीट्स को लेकर सोशल मीडिया पर जम कर ट्रोल हो रहे हैं. नियाज के ट्वीट पर विवेक अग्निहोत्री का जवाब, मिलने के लिए मांगा समय

अग्निहोत्री ने मांगा मिलने का समय

भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी नियाज़ ख़ान द्वारा ‘द कश्मीर फाइल्स’ फिल्म पर किए गए ट्वीट का जवाब देते हुए फिल्म के निर्देशक विवेक रंजन अग्निहोत्री ने कहा है कि नियाज़ ख़ान उन्हें मिलने का समय दें, ताकि कश्मीरी पंडितों की मदद के मुद्दे पर दोनों पक्ष अपने विचार साझा कर सकें.

विवेक अग्निहोत्री ने आज अपने ट्वीट में कहा, ‘नियाज़ ख़ान सर, मैं 25 तारीख को भोपाल आ रहा हूं. आप मुझे मुलाकात का समय दें, ताकि हम आपस में मिल कर इस बात पर विचार कर सकें कि कैसे हम कश्मीरी पंडितों की मदद कर सकते हैं और कैसे आप अपनी किताबों की रॉयल्टी से और बतौर प्रशासनिक सेवा अधिकारी मदद कर सकते हैं.’

दरअसल नियाज़ ख़ान ने आज अपने ट्वीट में कहा था कि द कश्मीर फाइल्स के निर्माता को अपनी पूरी कमाई कश्मीरी पंडितों के बच्चों की शिक्षा और कश्मीर में उनके घर बनवाने में लगा देनी चाहिए. इसके पहले कल भी उन्होंने इस फिल्म के बहाने मुस्लिमों के कथित नरसंहार का मुद्दा उठाते हुए इस पर भी एक फिल्म बनाने की बात कह डाली थी. नियाज़ ख़ान अपने इन सभी ट्वीट्स को लेकर खासे ट्रोल हो रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.