कांग्रेस के साथ PK की नहीं हुई डील तो कही ऐसी बात, सोशल मीडिया पर होने लगे ट्रोल

चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर कांग्रेस में शामिल नहीं होंगे. सोनिया गांधी ने उन्हें पार्टी में शामिल होने का न्योता दिया था. कांग्रेस में प्रशांत किशोर को शामिल करने को लेकर अंतर्विरोध पहले ही नजर आ रहा था और आज इस पर असमंजस खत्म हो गया. प्रशांत किशोर ने स्वयं ये घोषणा की है कि वो कांग्रेस में शामिल नहीं होंगे.

प्रशांत किशोर ने ट्वीट किया, ”मेरी राय में, गहरी जड़ें बना चुकीं संरचनात्मक समस्याओं को परिवर्तनकारी सुधारों के माध्यम से ठीक करने के लिए कांग्रेस को मेरी जगह नेतृत्व, सामूहिक इच्छाशक्ति की जरूरत है.”

इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया यूजर्स उन्हें ट्रोल करने लगे. दिलीप मंडल नाम के एक ट्विटर ने लिखा, “बड़े नीच बिज़नेसमैन हैं आप. डील नहीं हुई तो क्लाइंट को ही पब्लिकली कोसने लगे. आपसे बात करना भी नुक़सानदायक है. अरे, नहीं पटा सौदा तो आगे बढ़िए. किसी और के पास जाइए। वहाँ आइडिया बेचिए.”

प्रशांत टंडन नाम के एक यूजर ने भी प्रशांत किशोर के ट्वीट पर रिप्लाई करते हुए लिखा, “प्रशांत किशोर और मोदी का कोई मामूली रिश्ता नहीं है. 2011 से 2014 के तक इन्होंने मोदी के साथ काम किया. गांधी नगर के मुख्यमंत्री निवास से ऑपरेट करते थे और सीधे मोदी को ही रिपोर्ट करते थे.
एडीटीवी के एक इंटरव्यू में प्रशांत किशोर बता चुके हैं कि मोदी से उनकी मुलाकाते होती हैं.”

Leave a Reply

Your email address will not be published.