‘द कश्मीर फाइल्स’ पर शरद पवार ने मोदी और बीजेपी को धो डाला

न्यूज डेस्क: कश्मीरी पंडितों के पलायन पर बनी फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ को लेकर पूरे देश में सियासत गर्म है. एक तरफ जहां बीजेपी (BJP) इस फिल्म को बीजेपी शासित राज्यों में टैक्स फ्री कर रही है तो वहीं विपक्षी दल इस फिल्म का विरोध कर रहे हैं. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) और उनकी पार्टी ‘आप’ और बीजेपी के बीच जुबानी जंग अपने चरम पर है.

बीजेपी से अलग सोच रखने वाले ज्यादातर राजनीतिक दलों ने इस फिल्म का विरोध किया है. ‘द कश्मीर फाइल्स’ का विरोध करने वालों की फेहरिस्त में एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार (Sharad Pawar) भी शामिल हो गए हैं. इस फिल्म पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा कि कश्मीरी पंडितों के पलायन के बारे में देश भर में झूठ फैलाया जा रहा है. झूठ की वजह से देश का माहौल जहरीला बनाने की कोशिश हो रही है.

दिल्ली में अपनी पार्टी के एक कार्यक्रम में पवार ने कहा कि इस प्रकार की फिल्म को स्क्रीनिंग के लिए इजाजत नहीं देनी चाहिए थी. इसके उलट इस मूवी को टैक्स में छूट दी जा रही है. उन्होंने कहा कि जिन लोगों को देश को एकजुट रखने के प्रति जिम्मेदारी निभानी चाहिए. वही जनता से इस फिल्म को देखने की अपील कर रहे हैं. पवार यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा यह फिल्म लोगों को भड़काने का काम करती है. जिसे बीजेपी की तरफ से समर्थन दिया जा रहा है.

शरद पवार ने कहा कि कश्मीरी पंडित को घर और घाटी छोड़कर जाना पड़ा लेकिन इस प्रकार मुसलमानों पर भी निशाना साधा गया. उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तान स्थित आतंकवादी समूह कश्मीरी पंडितों और मुसलमानों पर हमले के लिए जवाबदेह है.’ शरद पवार ने यह भी कहा, ‘नरेंद्र मोदी की सरकार अगर कश्मीरी पंडितों को लेकर इतनी गंभीर है तो उन्हें उनके पुनर्वास पर पूरा ध्यान देना चाहिए.’

Leave a Reply

Your email address will not be published.