राष्ट्रपति चुनाव : विपक्ष ने बीजेपी के पूर्व मंत्री को बनाया उम्मीदवार

विपक्षी दलों की ओर से मंगलवार को राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार को लेकर हुई बैठक में अहम फैसला हुआ. सूत्रों के अनुसार, इसमें सर्वसम्मति से यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha) को विपक्षी दलों की ओर से राष्ट्रपति पद का प्रत्याशी बनाने का फैसला किया गया. 

एनसीपी प्रमुख शरद पवार द्वारा बुलाई गई बैठक के लिए संसद भवन में एकत्र हुए विपक्षी नेताओं ने सिन्हा के नाम पर सहमति जताई. माना जा रहा है कि यशवंत सिन्हा 27 जून को अपना नामांकन दाखिल करेंगे.

गौरतलब है कि विपक्षी दलों की पिछली बैठक में एनसीपी प्रमुख शरद पवार का नाम भी तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी की ओर से प्रस्तावित किया गया था, लेकिन पवार ने दावेदारी स्वीकार करने से इनकार कर दिया था. इसके अलावा गोपाल कृष्ण गांधी का नाम भी आया था.

अब जानिए यशवंत सिन्हा का कॅरियर
छह नवंबर 1937 को यशवंत सिन्हा का जन्म पटना के कायस्थ परिवार में हुआ था. उन्होंने राजनीति शास्त्र में मास्टर्स की पढ़ाई पूरी की है. 1960 में सिन्हा आईएएस अफसर बने और लगातार 24 साल तक अपनी सेवाएं दीं. इस दौरान वह भारत सरकार के वाणिज्य मंत्रालय में उप सचिव भी रहे. बाद में जर्मनी के दूतावास में प्रथम सचिव वाणिज्यिक के तौर पर नियुक्त किया गया. 1973 से 1975 के बीच में उन्हें भारत का कौंसुल जनरल बनाया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.