‘हमने योगी जी को वोट दिया, फिर भी मकान तोड़ दिया’

पिछले 50 सालों से मुक्तेश्वर महादेव मंदिर की जमीन पर करीब 20 परिवार दुकान और मकान बनाकर रह रहे थे. बुधवार को जिला प्रशासन ने इन मकानों और दुकानों पर बुलडोजर चला दिया.

प्रशासन ने मंदिर की जमीन पर बने मकानों और दुकानों को बुलडोजर से जमींदोज कर दिया. इस दौरान अपने मकान और दुकान पर बुलडोजर चलता देख लोग अपने आंसुओं को नहीं रोक सके. अपने मकान को टूटता देख लोगों ने अधिकारियों से गुहार भी लगाई, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। बिखरे हुए सामान और टूटते हुए मकान को देखकर बुजुर्ग महिलाएं, युवतियां और बच्चे रोते रहे.

पीड़ित परिवार की एक युवती का कहना है, ‘हमने वोट योगीजी को दिया था, उन्होंने हमारा मकान तोड़ दिया, हमें सड़क पर बैठा दिया है, हमारा 20 लोगों का परिवार है, हमने सारा वोट भाजपा को दिया था, हमारी 5 पीढ़ियां यहां रह चुकी है, लगभग 100 साल से भी ज्यादा समय हमें यहां हो गया है.’

इस मामले में गढ़मुक्तेश्वर एसडीएम अरविंद द्विवेदी का कहना है कि तीर्थंनगरी में मुक्तेश्वरा महादेव मन्दिर महाभारत कालीन मन्दिर है, जो कि वर्षों पूर्व पुराना है, जिसके परिसर में अवैध अतिक्रमण किया गया था, पूर्व में इन लोगों को नोटिस दिए गए थे, कुछ लोगों ने जगह खाली कर दी थी मगर जिन लोगों ने जगह नहीं खाली की उनके खिलाफ कार्यवाही हुई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.