नीतीश कुमार ने बताया किसे नहीं मानते हिंदुस्तानी

बिहार की नीतीश कुमार सरकार (Nitish Kumar on Liqour Ban) ने विधानसभा (Bihar vidhan sabha) में शराबबंदी कानून में बड़ा बदलाव किया है. इस दौरान मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन के दौरान शराब पीने वालों पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने यहां तक कह दिया, ‘शराब पीने वाले हिंदुस्तानी नहीं, वह महा-अयोग्य हैं, महापापी हैं.’

नीतीश कुमार ने कहा कि जो लोग शराब का सेवन करते हैं और बापू की भावनाओं को नहीं मानते, उनको मैं हिंदुस्तानी मानता ही नहीं हूं. नीतीश कुमार ने कहा कि ऐसा करने वाले व्यक्ति महाअयोग्य और महापापी भी हैं. शराब का सेवन कहीं से अच्छा नहीं है. जो लोग यह तर्क देते हैं कि शराबबंदी होने से राजस्व का नुकसान हो रहा है वो गलत है. सीएम ने कहा कि पहले जब बिहार में शराब की बिक्री होती थी तो 5 हजार करोड़ रु राजस्व आता था पर शराबबंदी होने के बाद लोगों को बहुत फायदा पंहुचा है.

शराबबंदी कानून में हुए कई बड़े संशोधन

शराबबंदी के 6 साल के बाद नीतीश सरकार ने कानून में कई बड़े संशोधन किए हैं. नये संशोधन के मुताबिक अब कोई भी आरोपी सिर्फ जुर्माना देकर छूट सकता है. जुर्माना नहीं देने पर एक महीने की सजा हो सकती है. व्यक्ति द्वारा बार-बार शराब पीने के जुर्म में पकड़े जाने पर जुर्माना और जेल दोनों हो सकता है. नये संशोधन के मुताबिक आरोपी को नजदीकी कार्यपालक मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया जाएगा. आने वाले दिनों में जुर्माने की राशि सरकार तय करेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.